Latest News

TOP5 (5 पंक्तियों में ...)
Social (सामाजिक)

Controversy

technology

International

Sports

Recent Posts

Saturday, 17 November 2018

उत्तर प्रदेश के जिलों की 'खबरें' - UP Districts News, Latest in Hindi


  • अंबेडकर नगर अकबर पुर
  • आगरा
  • अलीगढ़
  • आजमगढ़
  • इलाहाबाद
  • उन्नाव
  • इटावा
  • एटा
  • औरैया
  • कन्नौज
  • कौशाम्बी
  • कुशीनगर
  • कानपुर नगर
    (औधोगिक नगर)
  • कानपुर देहात
  • कासगंज
  • गाजीपुर
  • गाजियाबाद
  • गोरखपुर
  • गोंडा
  • गौतम बुद्ध नगर नॉएडा
  • चित्रकूट
  • जालौन
  • चन्दौली
  • ज्योतिबा फुले नगर
    - अमरोहा

  • झांसी
  • जौनपुर
  • देवरिया
  • पीलीभीत
  • प्रतापगढ़
  • फतेहपुर
  • फर्रूखाबाद
  • फिरोजाबाद
  • फैजाबाद
  • बलरामपुर
  • बरेली
  • बलिया
  • बस्ती
  • बदायूँ
  • बहराइच
  • बुलन्दशहर
  • बागपत
  • बिजनौर
  • बाराबंकी
  • बांदा
  • मैनपुरी
  • हाथरस
  • मऊ
  • मथुरा
  • महोबा
  • महाराजगंज

  • मिर्जापुर
  • मुजफ्फर नगर
  • मेरठ
  • मुरादाबाद
  • रामपुर
  • रायबरेली
  • लखनऊ (राजधानी)
  • ललितपुर
  • लखीमपुर खीरी
  • वाराणसी
  • सुल्तानपुर
  • शाहजहांपुर
  • बस्ती
  • सिद्धार्थ नगर
  • संत कबीर नगर
  • सीतापुर
  • संत रविदास नगर
  • सोनभद्र
  • सहारनपुर
  • हमीरपुर
  • हरदोई
  • अमेठी
  • संभल
  • शामली
  • हापुड़

Thursday, 26 April 2018

जस्टिस जोसेफ सबसे वरिष्ठ नहीं- CJI को सरकार की चिट्ठी modi-government-letter-to-cji-dipak-misra



सुप्रीम कोर्ट में उत्तराखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के. एम. जोसेफ की नियुक्ति को सरकारी की तरफ से मंजूरी ना मिलने का मामला अब बढ़ता जा रहा है. केंद्र सरकार ने इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को चिट्ठी लिखी है. सरकार ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने जो कोलेजियम सिस्टम के आधार पर जस्टिस के. एम. जोसेफ की नियुक्ति करने को कहा है वह संभव नहीं है. सरकार ने इसके लिए कई तरह के तर्क दिए हैं. सरकार की ओर से कहा गया कि - # वरिष्ठता के आधार पर जस्टिस के. एम. जोसेफ का नंबर 42वां है. अभी भी हाईकोर्ट के करीब 11 जज उनसे सीनियर हैं.\# वरिष्ठता के आधार पर जस्टिस के. एम. जोसेफ का नंबर 42वां है. अभी भी हाईकोर्ट के करीब 11 जज उनसे सीनियर हैं. # कलकत्ता, छत्तीसगढ़, गुजरात, राजस्थान, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और कई हाईकोर्ट के अलावा सिक्किम, मणिपुर, मेघालय के प्रतिनिधि अभी सुप्रीम कोर्ट में नहीं है. # जस्टिस के. एम. जोसेफ केरल से आते हैं, अभी केरल के दो हाईकोर्ट जज सुप्रीम कोर्ट में हैं. # पिछले काफी समय से सुप्रीम कोर्ट में SC/ST का कोई प्रतिनिधित्व नहीं है. # कोलेजियम सिस्टम सुप्रीम कोर्ट का ही एक सिस्टम है. # अगर केरल के ही एक और हाईकोर्ट जज की नियुक्ति की जाती है तो यह सही नहीं होगा.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

सिब्बल का बड़ा आरोप- लोया केस में PIL थी फिक्स, दबाव में ना आए न्यायपालिका- kapil-sibal-judge-loya



कांग्रेस ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जज लोया की मौत मामले से जुड़े कुछ खुलासे किए. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि जज लोया मामले में जो PIL दायर की गई थी, वह RSS के व्यक्ति के द्वारा दायर की गई थी. ताकि ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच सके. PIL के मकसद पर उन्होंने सवाल उठाए. सिब्बल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने सही कहा था कि PIL के पीछे राजनीतिक मकसद था. सिब्बल ने कहा है कि हमें दुख है कि इस मामले में कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई और PIL दाखिल की गई. उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति ने ये PIL दाखिल की उसका नाम सूरज लोलगे था, वह नागपुर से ही है. सिब्बल ने आरोप लगाया कि सूरज बीजेपी और आरएसएस का करीबी है. उसने सिविक चुनाव के लिए बीजेपी से टिकट भी मांगा था.इसके अलावा कांग्रेस पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में उत्तराखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के.एम. जोसेफ के नाम को मंजूरी नहीं दिए जाने पर भी मोदी सरकार पर हमला बोला. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि हम लगातार कह रहे हैं कि न्यायपालिका खतरे में है. कानून कहता है कि सुप्रीम कोर्ट का कोलेजियम कहता है वही होगा, जबकि सरकार चाहती है कि अगर उनके मन मुताबिक नहीं हुआ तो कोलेजियम की सिफारिशों को नजरअंदाज करेगी और उसे मंजूरी नहीं देगी. कपिल सिब्बल ने कहा कि बीजेपी कहती है कि देश बदल रहा है, लेकिन हम कहते हैं कि देश बदल चुका है. आज सरकार न्यायपालिका के साथ जो बर्ताव कर रही है, वह पूरा देश जानता है. सरकार की मंशा साफ है कि वह जस्टिस जोसेफ को जज नहीं बनने देंगे. सिब्बल ने कहा कि सरकार कोलेजियम के हिसाब से नहीं चलना चाहती है.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इस साल 20% तक बढ़ोतरी मुमकिन- Union Territory



नई दिल्ली. इस साल पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस और कोयले के दाम 20 फीसदी तक बढ़ सकते हैं। वर्ल्ड बैंक ने अप्रैल की कमोडिटी मार्केट आउटलुक रिपोर्ट में यह अनुमान जताया है। ऐसा होता है तो इसका भारत पर विपरीत असर होगा। देश अपनी ऊर्जा जरूरतों की पूर्ति के लिए इन कमोडिटी के आयात पर ज्यादा निर्भर है। रिपोर्ट के मुताबिक, क्रूड के दाम न सिर्फ 2018 में, बल्कि 2019 में भी औसतन 65 डॉलर प्रति बैरल रहने का अनुमान है। 2017 में यह कीमत 53 डॉलर प्रति बैरल थी। हालांंकि, अप्रैल 2018 के स्तर से क्रूड की कीमतों में गिरावट आने का अनुमान है। रिपोर्ट में वर्ल्ड बैंक के एक्टिंग चीफ इकोनॉमिस्ट शांतयनन देवराजन ने कहा है, "दाम बढ़ने में तेज होती वैश्विक ग्रोथ और मजबूत मांग का बड़ा योगदान है।" दक्षिण एशियाई देशों में भारत में तेल की कीमतें सबसे ज्यादा - क्रूड ऑयल के भाव में उछाल से नए फाइनेंशियल ईयर के पहले ही दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तेजी देखी गई। रविवार को दिल्ली में पेट्रोल 4 साल में सबसे महंगा हो गया। - वहीं, डीजल के भाव अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गए। राजधानी दिल्ली में अब पेट्रोल 73.73 और डीजल 64.58 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। ग्राहकों की नजरें अब मोदी सरकार पर टिकी हैं कि वादों के मुताबिक, एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती कर महंगाई से राहत दिलाई जाए। - बता दें कि भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम साउथ एशियाई देशों में सबसे ज्यादा हैं। इसकी वजह है कि भारत में सरकार इंटरनेशनल मार्केट में तेल के पंप रेट का आधा टैक्स लगा देती है। रविवार को ही भारत में पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी हुई - प्राइस नोटिफिकेशन के मुताबिक, तेल कंपनियों ने दिल्‍ली में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रविवार को 18 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोत्‍तरी की। जिसके बाद दिल्ली में पेट्रोल 73.73 रुपए लीटर है। यह कीमत सितंबर, 2014 में सबसे ज्यादा 76.06 रुपए प्रति लीटर थी। - दिल्ली में डीजल 64.58 रुपए लीटर है, जो अब तक का सबसे ज्यादा भाव है। फरवरी, 2018 में 64.22 रुपए प्रति लीटर था। - बता दें कि सरकारी तेल कंपनियां जून, 2017 से पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स की कीमतों की रोज समीक्षा करती हैं। इसके चलते हर दिन रेट बदलते हैं। पेट्रोलियम मंत्रालय ने की थी ड्यूटी घटाने की मांग - पेट्रोलियम मंत्रालय ने साल की शुरुआत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम करने के लिए एक्साइज ड्यूटी घटाने की मांग की थी, ताकि इंटरनेशनल मार्केट में तेल की बढ़ती महंगाई से ग्राहकों को राहत दी जा सके। पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 1 फरवरी, 2018 को पेश किए बजट में इसे नजरअंदाज कर दिया। डेढ़ साल में 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ी थी - अरुण जेटली ने नवंबर, 2014 से जनवरी 2016 के बीच एक्‍साइज ड्यूटी में 9 बार बढ़ोत्‍तरी की। जबकि इस दौरान ग्‍लोबल मार्केट में तेल कीमतों में गिरावट आई थी। इसके बाद सरकार ने अक्‍टूबर, 2017 में सिर्फ एक बार 2 रुपए प्रति लीटर एक्‍साइज ड्यूटी में कटौती की। - केंद्र ने राज्‍य सरकारों को तेल पर वैट में कटौती करने के लिए भी कहा। इसके बाद सिर्फ 4 राज्‍यों महाराष्‍ट्र, गुजरात, मध्‍य प्रदेश (तीनों भाजपा शासित) और हिमाचल प्रदेश (तब कांग्रेस शासित) ने वैट घटाया था। दिल्ली में यूरो-6 फ्यूल की बिक्री शुरू - दूसरी ओर, दिल्‍ली में 1 अप्रैल से यूरो-6 ग्रेड के पेट्रोल-डीजल की बिक्री शुरू हो गई। अल्‍ट्रा क्‍लीन यूरो-6 फ्यूल के लिए कोई अतिरिक्त कीमत भी नहीं देनी होगी। सरकारी तेल कंपनियां दिल्ली में यूरो-6 ग्रेड डीजल और पेट्रोल की आपूर्ति करेंगी। - आईओसी के निदेशक (रिफाइनरीज) बीवी राम गोपाल के मुताबिक, दिल्ली में रविवार से 391 पेट्रोल पम्‍प पर बीएस-6 अल्‍ट्रा क्‍लीन फ्यूल (पेट्रोल-डीजल) की सप्‍लाई शुरू हो गई। जबकि अभी तक यूरो-4 ग्रेड की बिक्री हो रही थी। - जनवरी, 2019 से एनसीआर के नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव फरीदबाद और मुंबई, चेन्‍नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे समेत 13 शहरों में यूरो-6 ग्रेड फ्यूल की सप्‍लाई शुरू होगी। वहीं, 1 अप्रैल 2020 से यह पूरे देश में मिलने लगेगा।


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...



वाशिंगटन - शिखर वार्ता से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन को माननीय कह कर उनकी तारीफ की। उन्होंने कहा कि किम के साथ मई या जून की शुरुआत में बैठक हो सकती है। ह्वाइट हाउस में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ बातचीत से पहले मंगलवार को ट्रंप ने कहा कि किम वास्तव में बहुत ही खुले हुए व्यक्ति हैं। वह हर तरह से माननीय हैं। हमें बताया गया है कि वे जल्द से जल्द बैठक करना चाहते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि हमारा मानना है कि यह दुनिया के लिए बहुत बड़ी बात होगी। हालांकि उन्होंने फिर कहा कि किम के साथ बैठक लाभदायक नहीं होगी, तो वह बातचीत से अलग हो जाएंगे। लेकिन वह बैठक को कुछ विशेष करने का अवसर मानते हैं। उन्होंने कहा कि हम देखेंगे कि बातचीत किस तरफ जाती है। शिखर वार्ता में कोरियाई एकीकरण प्राथमिकता नहीं शुक्रवार को होने वाली उत्तर और दक्षिण कोरिया की शिखर वार्ता में एकीकरण का मसला प्राथमिकता में नहीं है। हाल में दोनों देशों के बीच तनाव कम होने पर इस मसले को नया जीवन मिला था। लेकिन अधिकारियों और विश्लेषकों का मानना है कि कोरियाई प्रायद्वीप में 70 वर्षों की लड़ाई के बाद एकीकरण की बात जटिल और वास्तविकता से परे है। इसके अलावा दक्षिण कोरिया एक प्रमुख आर्थिक शक्ति बन गया है और वहां लोकतांत्रिक शासन है। जबकि उत्तर कोरिया की आर्थिक स्थिति खराब है और वहां किम के वंश का शासन है और लोगों को बहुत कम आजादी है। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई-इन के विशेष राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मून चुंग-इन ने कहा कि किम जोंग उन के साथ शिखर बैठक में शांति और परमाणु निरस्त्रीकरण शीर्ष प्राथमिकता पर रहेगा। सन् 2000 और 2007 की शिखर बैठक के प्रमुख मसले एकीकरण पर इस बैठक में थोड़ी भी चर्चा होने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक शांति नहीं होगी, एकीकरण नहीं हो सकता है।


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

जीताकर भी माही रह गए पीछे- Ms Dhonis



नई दिल्ली -आइपीएल में बुधवार रात को महेंद्र सिंह धौनी की चेन्नई सुपर किंग्स ने विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 6 विकेट से मात दे दी। बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इस मैच में रनों की बारिश देखने को मिली। घरेलू टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर आठ विकेट पर 205 रन बनाए। जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने 19.4 ओवर में पांच विकेट पर 207 रन बनाकर मैच पांच विकेट से जीत लिया। इस मैच में धौनी और विराट की टीम ने मिलकर एक ऐसा काम कर दिया जो आजतक आइपीएल के इतिहास में कभी भी नहीं हो पाया था। इस मैच में धौनी के धुरंधरों और विराट कोहली के चैलेंजर्स ने मिलकर 33 छक्के जड़े। ये आइपीएल के इतिहास में रिकॉर्ड बन गया। क्योंकि इससे पहले आइपीएल के किसी भी मुकाबले में कभी भी 33 छक्के नहीं लगे थे। इस मैच में चेन्नई की तरफ से 17 तो बैंगलोर की तरफ से 16 छक्के लगे। किस खिलाड़ी ने मारे कितने सिक्स इस मैच में बैंगलोर की तरफ से 16 छक्के लगे। बैंगलोर की तरफ से 8 छक्के ए बी डिविलियर्स ने मारे। डिविलियर्स ने सिर्फ 30 गेंदों में 68 रन की पारी खेली। इसके साथ ही डि कॉक ने भी 37 गेंदों में 54 रन बनाते हुए 4 छक्के जड़ दिए। इन दोनों के बाद आउट होने के बाद आए मंदीप सिंह ने 3 छक्के मारे तो एक छक्के वॉशिंगटन सुंदर ने लगाया। इन सभी की पारियों की बदौलत बैंगलोर ने 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 205 रन बनाए।


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

इंटॉलरेंस गैंग को करारा जवाब, सहिष्णुता में रूस, अमेरिका, फ्रांस और जापान से काफी आगे भारत- Tolerant Country





नई दिल्ली - कुछ दिनों पहले देश में सहिष्णुता बनाम असहिष्णुता की बहस जोरों पर थी। हर कोई यह मानकर चल रहा था कि देश में लोग दिनोंदिन ज्यादा असहिष्णु होते जा रहे हैं। समाज बंट रहा है। लोगों की इस सोच के इतर सामाजिक समरसता की तस्वीर पेश करती यह अच्छी खबर है। 27 देशों में इप्सोस मोरी द्वारा किए एक अध्ययन के अनुसार भारत चौथा सबसे सहिष्णु देश है। देश के 63 फीसद लोग मानते हैं कि यहां एक दूसरे के प्रति लोग बहुत सहिष्णु हैं। कनाडा सूची में शीर्ष पर जबकि हंगरी सबसे नीचे है। ऐसे हुआ अध्ययन इप्सोस मोरी ने 27 देशों में 20 हजार लोगों से बातचीत की। इस बातचीत में उसने लोगों से पूछा कि उनका समाज, देश कितना बंटा हुआ है। कहां खड़े हैं हम सबसे सहिष्णु देशों की सूची में हम चौथे स्थान पर हैं। 63 फीसद भारतीय मानते हैं कि अलग पृष्ठभूमि, संस्कृति और विचारों के प्रति यहां के लोग बहुत सहिष्णु हैं।हंगरी सबसे असहिष्णु 27 देशों के अध्ययन में हंगरी को सबसे असहिष्णु पाया गया। यहां सिर्फ 16 फीसद लोगों ने माना कि उनका देश सहिष्णु है। कनाडा में सर्वाधिक 74 फीसद लोग की ये राय है।समाज में तनाव की वजह विश्व में राजनीतिक विचारों में मतभेद तनाव की बड़ी वजह है। अमीर और गरीब का अंतर दूसरी और देश के मूल निवासी व प्रवासियों के मध्य मतभेद तीसरी सबसे बड़ी वजह है। भारत के 49 फीसद लोग मानते हैं कि राजनीतिक विचारों में भिन्नता तनाव की वजह है। 48 फीसद अलग-अलग धर्मों और 37 फीसद सामाजिक-आर्थिक हैसियत के अंतर को इसका कारण मानते हैं।

news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

PM मोदी बोले- लॉलीपॉप देकर कर्नाटक चुनाव जीतने की कोशिश कर रहे कुछ दल- Pm Modi Interaction



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नमो ऐप के जरिए कर्नाटक बीजेपी के सभी जन प्रतिनिधियों, विधानसभा चुनाव के सभी उम्मीदवारों, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से बात की. प्रधानमंत्री ने इस दौरान उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार के मुद्दों को बताया. बता दें कि कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों के लिए 12 मई को वोट डाले जाएंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले राजनीतिक दल विकास के मुद्दे पर राजनीति नहीं करते थे, बल्कि जाति-पंत-धर्म के आधार पर राजनीति करते थे. पीएम ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल एक जाति को चुनाव से पहले लॉलीपॉप पकड़ाते हैं और फिर चुनाव में उनका उपयोग करते हैं. चुनाव बदल जाता है और इसी तरह हर नए ग्रुपों को लॉलीपॉप देते हैं. उन्होंने कहा कि भारत के राजनीतिक कल्चर को कांग्रेस के कल्चर से मुक्ति दिलानी होगी. प्रधानमंत्री ने उम्मीदवारों से कहा कि हमें सिर्फ विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ना है. आपको इस दौरान चौकन्ना रहना होगा, क्योंकि राजनीतिक पार्टियां बीजेपी के खिलाफ झूठ फैला रही है. हमें झूठ से भी लड़ना है और विकास-सच की लड़ाई भी लड़नी है. आज कांग्रेस की वजह से ही राजनीति की गलत छवि बनी है. प्रधानमंत्री ने इस दौरान 4 साल में केंद्र की ओर से कर्नाटक को दी गई मदद के बारे में बताया. BJP प्रतिनिधियों से बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि विदेशी एजेंसियों के जरिए चुनाव में गुमराह करने की कोशिश की जा रही है. कर्नाटक में माताओं-बहनों को टॉयलेट से वंचित रखा. केंद्र सरकार ने चार साल में 34 लाख टॉयलेट बनाए हैं. पीएम ने कहा कि मुझपर आरोप लगाया जाता है कि मोदी सिर्फ धन्नासेठों के लिए काम करता है. क्या ये 34 लाख टॉयलेट अमीरों के लिए बने हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जो सरकार आप यहां चुनेंगे, वो आजादी के 75 साल पूरे होने पर 2022 तक रहेगी. आप ऐसी सरकार चुनें जो केंद्र सरकार के न्यू इंडिया को साथ लेकर चले. मोदी ने कहा कि दूसरे राजनीतिक दल वंशवाद, जातिवाद, पैसों के आधार पर चुनाव लड़ रहे हैं. लेकिन हमारी पार्टी संगठन की शक्ति और सबका साथ-सबका विकास के मंत्र के साथ चल रहे हैं.
उन्होंने कहा कि अब जब लोगों को लग रहा कि कांग्रेस हारने वाली है तो लोग त्रिशंकु विधानसभा की बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि 2014 में भी इस प्रकार की बातें की गई थीं. मैं लोगों से अपील करता हूं कि आप पूर्ण बहुमत की सरकार लाइए. दुनिया में आज भारत का नाम रोशन हुआ है इसका कारण केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार है.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

SC में जस्टिस जोसेफ की नियुक्ति रुकी, चिदंबरम ने पूछा- क्या उत्तराखंड पर फैसला कारण?- P Chidambaram




केंद्र सरकार ने कॉलेजियम की सिफारिश के आधार पर वरिष्‍ठ अधि‍वक्‍ता इंदू मल्‍होत्रा को सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्‍त किए जाने को मंजूरी दे दी है. वहीं, उत्‍तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्‍टिस केएम जोसेफ की पदोन्नति रोके रखने का फैसला किया है. इसके बाद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट कर केएम जोसेफ की पदोन्नति रोके रखने के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं.
पी चिदंबरम ने ट्वीट किया कि, 'खुश हूं कि इंदू मल्‍होत्रा ​सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में शपथ लेंगी. निराश हूं कि जस्‍ट‍िस केएम जोसेफ की नियुक्ति अभी भी रोकी गई है. केएम जोसेफ की पदोन्नति आखिर क्‍यों रोकी गई है? क्‍या इसके लिए उनका राज्‍य, उनका धर्म या उत्‍तराखंड केस में उनका फैसला लेना जिम्‍मेदार है?'
पी चिदंबरम ने लिखा, 'कानून के मुताबिक, जज नियुक्‍त में कॉलेजियम की सिफारिश ही अंतिम है. क्‍या मोदी सरकार कानून से ऊपर हो गई है?'
बता दें, बुधवार को केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सिफारिश मानते हुए सीनियर एडवोकेट इंदु मल्होत्रा को SC का जज नियुक्‍त किए जाने को मंजूरी दे दी है. इंदु सुप्रीम कोर्ट में वकील से सीधे जज बनने वाली पहली महिला होंगी. वहीं, सरकार ने जस्‍ट‍िस केएम जोसेफ की पदोन्नति रोके रखने का फैसला किया है. न्यायमूर्ति जोसेफ उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश हैं. कोलेजियम ने फरवरी में अपनी सिफारिश भेजी थी. 
क्‍या है उत्‍तराखंड केस?
गौरतलब है कि, 21 मार्च 2016 को चीफ जस्टिस केएम जोसेफ की खंडपीठ ने उत्तराखंड में केंद्र के राष्ट्रपति शासन लगाने के फैसले को पलट दिया था. इसके वजह से हरीश रावत एक बार फिर उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री बन गए थे. जस्टि‍स जोसेफ और जस्ट‍िस वीके बिष्ट की बेंच ने अपने फैसले में कहा था, 'केंद्र की ओर से राज्य में राष्‍ट्रपति शासन लगाना सुप्रीम कोर्ट की ओर से निर्धारित नियम के खिलाफ है।' इसके साथ ही जस्ट‍िस जोसेफ ने केंद्र सरकार को कड़ी फटकार लगाई थी. पी. चिदंबरम इसी केस का जिक्र कर रहे हैं. 


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

RSS पर बनेगी फिल्म, मोहन भागवत ने स्क्रिप्ट देख दिया ग्रीन सिग्नल- Film On Rss



27 लोगों ने 7 महीने की रिसर्च 
फिल्म बनाने का आइडिया कन्नड़ सिने ऑडियो टाइकून लहरी वेलु को आया। उन्होंने एनबीटी से बात करते हुए बताया कि सुपरहिट फिल्म बाहुबली और बाहुबली टू के ऑडियो राइट्स भी हमारी म्यूजिक कंपनी ने लिए हैं। बाहुबली की सफलता देखकर लगा कि जब वह इतनी हिट हो सकती है तो संघ पर फिल्म बनाई जानी चाहिए। लहरी वेलु ने बताया, 'मैं यह आइडिया लेकर बाहुबली फेम एस.राजमौली के पिता विजेंद्र प्रसाद के पास गया। वह जाने माने राइटर हैं। उन्हें यह आइडिया पसंद आया। फिर इस आइडिया के साथ संघ प्रमुख से मिला। उन्होंने भी अपनी सहमति दे दी। जिसके बाद 27 लोगों की टीम ने 7 महीने तक रिसर्च की और फिर उस आधार पर विजेंद्र प्रसाद ने स्क्रिप्ट लिखी।' 

एक साल में बन जाएगी फिल्म 
लहरी वेलु ने बताया, 'करीब दो महीने पहले हम स्क्रिप्ट लेकर संघ प्रमुख से मिले, वह स्क्रिप्ट देखकर बेहद खुश हुए। यह पूरी तरह तथ्यों पर आधारित है।' वेलु ने बताया कि इस फिल्म के लिए हमने करीब 180 करोड़ रुपये का बजट रखा है। उन्होंने कहा, 'हमारा मकसद लोगों को संघ की असली पहचान, उनकी विचारधारा, भारत के लिए उनके बलिदान और उनके संघर्ष के बारे में बताना है। हमें इस काम में संघ प्रमुख का आशीर्वाद मिल गया है।' उन्होंने बताया कि फिल्म के लिए हमने ‘संघ’ और ‘भगवाध्वज’ नाम रजिस्टर्ड करवा लिए हैं। फिल्म के लिए स्टार कास्ट तय किया जा रहा है। जिसमें साउथ इंडियन फिल्मों से लेकर बॉलिवुड फिल्मों के स्टार से संपर्क किया जा रहा है। जल्द ही डायरेक्टर फाइनल हो जाएगा। यह पूछने पर कि क्या लोकसभा चुनाव से पहले यह फिल्म आ जाएगी उन्होंने कहा कि इसका चुनाव से कोई संबंध नहीं है। लेकिन हमारी कोशिश है कि एक साल के भीतर यह फिल्म आ जाए। यह फिल्म हिंदी और तेलुगू में होगी। 


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

कुशीनगर में 13 बच्चों की मौत: ईयरफोन बना हादसे की वजह - Kushinagar Rail Accident School Van




कुशीनगर: यूपी के कुशीनगर में स्कूली वैन हादसे में ड्राइवर की लापरवाही का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि ड्राइवर कान में ईयरफोन लगाए हुए था जिस वजह से उसे ट्रेन के आने की आवाज सुनाई नहीं दी और वैन ट्रेन की चपेट में आ गई। बता दें कि गुरुवार सुबह कुशीनगर के विशुनपुरा थाने के दुदही रेलवे क्रॉसिंग पर स्कूल वैन के थावे-बढ़नी पैसेंजर ट्रेन से टकराने के चलते 13 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। गुरुवार सुबह हुए इस हादसे के बारे में रेलवे अधिकारियों का कहना है कि स्कूल वैन का ड्राइवर कान में ईयरफोन लगाए हुए था। जब वैन दुदही मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग से गुजर रही थी तब वहां तैनात गेट मित्र ने वैन के ड्राइवर को आगे न बढ़ने के लिए इशारा भी किया लेकिन ड्राइवर ने ध्यान नहीं दिया। स्थानीय नागरिकों ने भी यही बात कही। उन्होंने कहा कि ड्राइवर कान में ईयरफोन लगाए हुए थे। बच्चे चीखते-चिल्लाते रहे लेकिन ड्राइवर ने आवाज को दरकिनार कर दिया जिस वह से यह भीषण हादसा हुआ। हादसे में कई बच्चों के घायल होने की सूचना है। बताया जा रहा है कि वैन में करीब 25 बच्चे सवार थे। वहीं स्कूल वैन डिवाइन पब्लिक स्कूल की थी। हादसा इतना भयानक था कि आवाजें दूर-दूर तक सुनी गईं। वैन के परखचे उड़ गए। आसपास के लोग चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे और राहत कार्य शुरू किया। पुलिस और प्रशासन को तुरंत ही सूचना दी गई।


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

Videos

News by Topic...

States (2335) Politics (2131) India (1318) international (1053) sports (920) entertainment (741) Controversy (585) economy (148) articles (120) religion (106) Social (50) career (43) mithilesh2020 (36) hindi news (29) top5 (23) narendra modi (10) images (8) others (8) Stories (2)

Follow by Email

News Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *

Translate

WEBSITE BY...


क्या आप भी न्यूज, व्यूज या अन्य पोर्टल बनवाने के इच्छुक हैं? फोन करें

 मिथिलेश को: 99900 89080