Latest News

TOP5 (5 पंक्तियों में ...)
Social (सामाजिक)

Controversy

technology

International

Sports

Recent Posts

Friday, 19 January 2018

गुस्से में की गई अभद्र भाषा के लिए अब वे सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं अरिजीत सिंह - arijit singh uses abusive language in his live performance



नई दिल्ली: बॉलीवुड के पॉपुलर सिंगर अरिजीत सिंह इन दिनों गलत वजह से सुर्खियों में हैं. उनका एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वे लाइफ शो के दौरान गुस्से में अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते दिखे. हालांकि अरिजीत का यह वीडियो कई साल पुराना लगता है.

वायरल हो रहे वीडियो में अरिजीत सिंह रॉकस्टार फिल्म का सॉन्ग 'नादान परिंदे' गा रहे हैं. माइक के सही से ना लगे होने की वजह से वह गाते हुए अचानक से गुस्सा करते हैं और माइक को सही से लगाने को बोलते हैं. गुस्से में की गई अभद्र भाषा के लिए अब वे सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं.


ट्विटर पर लोगों ने अरिजीत के इस रवयै के लिए आड़े हाथ लिया है. एक शख्स ने कहा कि वो मोहित चौहान की तरह गाने की कोशिश कर रहे हैं, पर उन्हें खुद नहीं पता है कि वो किसकी तरह गा रहे हैं. एक ने उनके लहजे की तुलना एंग्री इंडियन अंकल से की.


एक शख्स को उनका ये लहजा नागवार गुजरा और उसने कहा कि जिस माइक के बारे में वो अभद्र भाषा में बात कर रहे हैं उसी माइक के जरिये गाना गाकर वो लोगों तक पहुंचे हैं. उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिये.


इससे पहले भी फिल्म सुल्तान के एक गाने के चलते सलमान से अनबन को लेकर वो विवादों में रहे थे. सलमान और अरिजीत को लेकर इस विवाद ने बाद में बड़ा रूप ले लिया था. गलती का आभास होने पर अरिजीत को सलमान से माफी भी मांगनी पड़ी थी.



news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

पद्मावत विवाद के लिए बीजेपी सरकार को घेरा प्रकाश राज ने - prakash raj slams modi govt on padmavati protest



नई दिल्ली: इंडिया टुडे कॉन्क्लेव साउथ 2018 के अहम सत्र ''स्टैंड आउट, स्पीक अप: मेक योरसेल्फ काउंट'' में जाने माने एक्टर प्रकाश राज ने पद्मावत विवाद पर बेबाकी से अपनी राय रखी. उन्होंने फिल्म को लेकर बढ़ते विवाद के लिए मोदी सरकार को घेरा.

एक्टर ने कहा, जिन राज्यों ने फिल्म को कानून-व्यवस्था बिगड़ने के डर से बैन किया है उन्हें सत्ता छोड़ देनी चाहिए. प्रकाश राज ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, वे लोग राजपूतों के सम्मान की बात करते हैं. मुझे समझ आता अगर राजस्थान के राजपूतों का ऐसा कहना होता. लेकिन गुजरात और हरियाणा के लोग कहां से बीच में आ गए? वहां पर क्यों फिल्म बैन हुई?



प्रकाश राज ने कहा, चाहे मैं पीएम मोदी के लिए वोट करूं या ना करूं लेकिन वह मेरे प्रधानमंत्री हैं. उन्हें इन सभी विवादों के बारे में बोलना चाहिए. अपने मंत्रियों के गलत कदम पर उन्हें डांटना चाहिए. विरोध करने वाले किसी की नाक तो किसी की आंख काटने को तैयार हैं.



प्रकाश राज ने कहा, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला देते हुए कहा है कि सेंसर बोर्ड को इस पर फैसला लेना चाहिए. अगर फिल्म हिंदू धर्म के खिलाफ बनी होती तो उनके पास पूछने के लिए सवाल होते. लेकिन भंसाली की फिल्म हिंदूवाद पर है ही नहीं. पद्मावत ना तो हिंदू सभ्यता के खिलाफ है और ना ही उसके पक्ष में. लेकिन विरोध करने वाले ये बात मानने को तैयार नहीं.



इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में प्रकाश राज के अलावा एक्टर विशाल, फिल्ममेकर एसके शशिधरन और दलित एक्टिविस्ट कंचा इलैया भी मौजूद थे. एक्टर विशाल ने पद्मावत विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि अंत में न्याय की जीत हुई.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

भारतीय नागरिकों भी निशाना बना रहे हैं पाकिस्तानी रेंजर्स - pakistan ceasefire violation india border pakistan jammu



आरएसपुरा सेक्टर, जम्मू: पाकिस्तान की ओर से एक बार फिर सीजफायर उल्लंघन किया गया है. 24 घंटे में यह दूसरी बार है जब पाकिस्तान की ऐसी हरकत सामने आई है. शुक्रवार सुबह पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर जम्मू के आरएसपुरा, अरनिया, रामगढ़, हीरानगर सेक्टर में गोलीबारी की.  पाकिस्तान की गोलीबारी में एक महिला समेत दो नागरिकों की मौत हो गई है. गोलीबारी में 7 लोगों के घायल होने की भी खबर है.

गुरुवार को भी आरएसपुरा सेक्टर में ही गोलीबारी की थी. बीएसएफ की ओर से पाकिस्तान को कड़ा जवाब दिया जा रहा है.बीएसएफ के सूत्रों की मानें, तो पाकिस्तान की ओर से भारत की 30-40 पोस्ट पर टारगेट किया जा रहा है. पाकिस्तानी रेंजर्स भारतीय नागरिकों भी निशाना बना रहे हैं. रामगढ़ सेक्टर में लगातार दागे जा रहे मोर्टार के कारण सांबा पुलिस ने वहां से ग्रामीणों को बाहर निकलवाना शुरू कर दिया है.



आपको बता दें कि गुरुवार को भारत की जवाबी कार्रवाई में 3 पाक रेंजर्स समेत कुल 8 को मार गिराया था. पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी में भारत का एक कॉन्सेटबल और एक छोटी बच्ची शहीद हुई थी.



गुरुवार को गोलीबारी पर बीएसएफ के डीजी केके शर्मा ने कहा था कि बॉर्डर पर हालात तनावपूर्ण हैं. पाकिस्तान ने सीजफायर उल्लंघन किया था, जिसके बाद हमने जवाबी कार्रवाई की. हमारी कार्रवाई में पाकिस्तान का काफी नुकसान हुआ है, उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर और LoC दोनों ही जगह हालात ठीक नहीं हैं. हम हमारे शहीद जवान का बदला लेंगे.

सूत्रों की मानें, तो पाकिस्तान ने गुरुवार देर रात को गोलीबारी की शुरुआत की थी. जिसके बाद से ही रुक-रुक कर गोलीबारी की जा रही थी. लेकिन लगातार गोलीबारी के बाद बीएसएफ ने भी कड़ा जवाब देना शुरू कर दिया. फायरिंग के चलते आस-पास के गांव वालों को बाहर ना निकलने की हिदायत दी गई है. अरनिया तहसील के सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया था.





news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

अजय माकन ने केजरीवाल के डिनर पर कसा तंज - jaitley joined kejriwal dinner forgetting all the bitterness



दिल्ली में गुरुवार की शाम को आयोजित यह डिनर बेहद खास साबित हुआ. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दिए जाने वाले इस डिनर में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पहुंचे. दोनों पास में बैठे, उनके बीच बातचीत हुई और दोनों के चेहरों पर मुस्कराहट दिख रही थी. इस दुर्लभ संयोग को देखकर डिनर में शामिल अतिथि भी काफी अच्छा महसूस कर रहे थे.

हालांकि, दोनोंं के इस डिनर पर राजनीति भी शुरू हो गई है. हालांकि, इस मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है. कांग्रेस नेता अजय माकन ने इस डिनर पर तंज कसते हुए कहा है कि बदले-बदले से सरकार नजर आते हैं.

असल में गुरुवार को दिल्ली में जीएसटी कौंसिल की बैठक थी, जो शाम देर तक चली, क्योंकि एजेंडे में कई सारी चीजें थीं. कई चीजों पर तो इस बार निर्णय ही नहीं हो पाया. कौंसिल के सदस्यों के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने डिनर आयोजित किया था.

जीएसटी की बैठक खत्म होने के बाद जब राज्यों के वित्त मंत्री और वरिष्ठ अधिकारी आयोजन स्थल विज्ञान भवन के हॉल से बाहर आ रहे,  तो सात घंटे से खबरों के इंतजार में लगे पत्रकारों ने उन्हें घेर लिया. ज्यादातर राज्यों के वित्त मंत्री पत्रकारों को बाइट देने में लग गए. लेकिन दिल्ली के डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों से बात करने से मना कर दिया. वे थोड़े अधीर दिख रहे थे. उन्होंने सभी राज्यों के वित्त मंत्रियों के कान में कुछ बात कही और उसके बाद अपने अधिकारियों-कर्मचारियों को कुछ निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीएसटी कौंसिल की बैठक में आए सभी सदस्यों के लिए दिल्ली के मशहूर फाइव सेंसेज गार्डन में डिनर आयोजित किया था. केजरीवाल सीधे डिनर वेन्यू पर पहुंच गए थे और उन्होंने मनीष सिसोदिया को जिम्मेदारी दी थी कि वे जीएसटी कौंसिल के सदस्यों को लेकर वहां पहुंचें.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली घर जाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन सिसोदिया ने उनसे भी डिनर में चलने का अनुरोध किया. जेटली ने अपने जूनियर मंत्री शिव प्रताप शुक्ला से पूछा कि क्या उन्होंने गार्डन (डिनर आयोजन स्थल) देखा है? शुक्ला ने कहा नहीं, लेकिन उन्होंने कहा कि वे भी डिनर में चलने को तैयार हैं. इसके बाद वित्त मंत्री केजरीवाल के डिनर में पहुंचे. सभी लोगों को यह देखकर काफी अच्छा लगा, क्योंकि मानहानि मामले में दोनों नेताओं के बीच बनी कड़वाहट किसी से छिपी नहीं है.



इस डिनर के बारे में जीएसटी कौंसिल और वित्त मंत्री के मीडिया प्रभारियों की तरफ से कोई जानकारी शेयर नहीं की गई, लेकिन आम आदमी पार्टी के ट्विटर हैंडल पर इसकी कई अच्छी तस्वीरें साझा की गई हैं. इन तस्वीरों में दिख रहा है कि जेटली और केजरीवाल बिल्कुल पास में बैठे हैं. ठंड से बचने के लिए अरुण जेटली एक सुनहरे रंग की शॉल ओढ़कर पहुंचे थे. उन्होंने केजरीवाल से बात तो बहुत कम की, लेकिन दोनों के चेहरे पर मुस्कराहट दिख रही थी.

डिनर आयोजन स्थल फाइव सेंसेज गार्डन महरौली के पास सइद-उल-अजायब इलाके में करीब 20 एकड़ में बना हुआ है. इसे राजधानी के बेहतरीन हरिटेज और एक्टिविटी जोन में से माना जाता है. डिनर में केजरीवाल के साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के अलावा दिल्ली के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन भी थे. दिल्ली सरकार ने सभी अतिथियों को आयोजन स्थल तक पहुंचाने के लिए 8 लग्जरी बसों की भी व्यवस्था की थी. कई अतिथियों ने तो ट्रैफिक जाम और देरी से बचने के लिए मेट्रो, फिर कैब का भी सहारा लिया.

गौरतलब है कि अरुण जेटली ने केजरीवाल के अलावा के आशुतोष, कुमार विश्वास, संजय सिंह, राघव चड्ढा और दीपक बाजपेयी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा किया है. AAP के नेताओं ने DDCA में अरुण जेटली के अध्यक्ष रहने के दौरान भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था, जिस पर अरुण जेटली ने 10 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा किया है. मानहानि के मुकदमे की वजह से दोनों नेताओं में भले ही कितनी कड़वाहट हो, लेकिन अच्छी बात यह है कि दोनों ने यह भूलकर एक अच्छा जेस्चर दिखाया और डिनर का आनंद लिया.




news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

Thursday, 18 January 2018

आधार के इस्तेमाल से नागरिकता दासत्व तक सिमट जाएगी - uid threat to constitution apex court told



नई दिल्ली: आधार को अनिवार्य कराने के विरोध से जुड़े मामले की अंतिम सुनवाई बुधवार से सुप्रीम कोर्ट में शुरू हो चुकी है। याचिकाकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच के सामने जिरह करते हुए कहा है कि यूनीक आइडेंटिटी नंबर्स के इस्तेमाल से नागरिक अधिकार समाप्त हो जाएंगे और नागरिकता दासत्व तक सिमट जाएगी।


आधार मामले पर यह बहुचर्चित सुनवाई पिछले पांच सालों से चल रही है। कई सामाजिक कार्यकर्ताओं और हाई कोर्ट के एक पूर्व जज ने आधार स्कीम को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एके सिकरी, जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच इस मामले की सुनवाई कर रही है।

वरिष्ठ वकील श्याम दीवान ने बेंच के सामने यह तर्क दिया कि अगर आधार को अनिवार्य किया गया तो लोगों के मूलभूत अधिकारों से समझौते जैसा होगा। उन्होंने कहा कि यह नागरिकों के जीवन की निगरानी करने वाला एक उपकरण बन सकता है। कर्नाटक हाई कोर्ट के पूर्व जज केएस पुट्टास्वामी और अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं की तरफ से मामले में पेश हुए दिवान ने तर्क दिया कि किसी भी लोकतांत्रिक देश ने इस तरह की स्कीम को स्वीकार नहीं किया है।

सीनियर ऐडवोकेट ने कहा कि आधार जैसी स्कीम लोगों के अधिकार और स्वतंत्रता के सिद्धांत के खिलाफ है। दीवान ने कहा कि सरकार के हाथ में आकर आधार उत्पीड़न का साधन बन सकता है और इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती। दीवान ने सुप्रीम कोर्ट की बेंच से कहा कि याचिकाकर्ता इस बात को लेकर निश्चित हैं कि अगर आधार ऐक्ट और प्रोग्राम को बिना किसी बाधा के संचालित करने की अनुमति दी जाती है तो यह संविधान को खोखला कर देगा।

उन्होंने कहा कि एक लोक संविधान राज्य संविधान में बदल जाएगा। संविधान आधार को अस्वीकार करता है। दीवान ने कहा कि संविधान को खुद को बचाए रखने के लिए, अपनी मूलभूत नैतिकता को बनाए रखने के लिए और जीवन में दखल दे रहे राज्य से नागरिकों को बचाने के लिए ऐसा करना भी चाहिए। सरकार के तर्कों का हवाला देते हुए संवैधानिक बेंच ने दीवान से पूछा कि आधार सामाजिक कल्याण की स्कीमों में आधार लोगों के हितकारी है क्योंकि पैसा सीधे लाभार्थी के पास पहुंचता है।

इसपर दीवान ने जवाब दिया कि सरकार ने आंकड़ों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया है। दीवान ने कहा कि आधार स्कीम के तहत सारी जानकारी एक सेंट्रल डेटा बेस से कनेक्ट रहेगी। सरकारी एजेंसियां इसका दुरुपयोग कर नागरिकों की प्रोफाइलिंग और उनकी गतिविधियों की निगरानी कर सकती हैं। दीवान ने तर्क दिया कि यह प्रोफाइलिंग आगे चलकर राज्य को किसी असंतोष को कुचलने और राजनीतिक निर्णयों को प्रभावित करने में सक्षम बना सकती है।


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

आज होगी जीएसटी काउंसिल की 25वीं बैठक - gst council meeting arun jaitley rate cut real estate live update



नई दिल्ली: बजट में आम लोगों को राहत की घोषणा करने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली आज बड़ी राहत दे सकते हैं. दिल्ली में गुरुवार को जीएसटी काउंसिल की 25वीं बैठक है. इस बैठक में ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि 70 से भी ज्यादा चीजों पर जीएसटी रेट कम किए जा सकते हैं. इसके साथ ही इस बैठक में रियल इस्टेट और पेट्रोल व डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर भी विचार हो सकता है. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली बैठक की अध्यक्षता करेंगे. परिषद में राज्यों के वित्त मंत्री सदस्य हैं.

जिन चीजों के रेट घट सकते हैं, उनमें घरेलू चीजों, खेती में काम आने वाले सामान, सिंचाई से जुड़े हुए सामान और मशीनें, हथकरघा के सामान और सीमेंट व स्टील जैसी चीजें शामिल हैं.



इस बैठक में रियल इस्टेट और पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर भी चर्चा  हो सकती है. माना जा रहा है कि बैठक में जीएसटी काउंसिल इस बारे में कोई फैसला करके इसे लागू करने के लिए तारीख का ऐलान किया जा सकता है. कहा जा रहा है कि जीएसटी के दायरे में आने के बाद रियल स्टेट मे लगने वाली स्टैंप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन चार्जेज को भी इसी में समाहित कर लिया जाएगा. अनुमान है कि सरकार रियल स्टेट पर 12 फीसदी जीएसटी लगा सकती है.



जीएसटी के बारे में व्यापारियों और दुकानदारों की शुरू से यह शिकायत रही है कि उन्हें जीएसटी के लिए कई फॉर्म भरने पड़ते हैं. संभावना है कि जीएसटी काउंसिल जीएसटी के 3 फॉर्म को एक में ही शामिल कर लेगी जिससे यह प्रक्रिया आसान हो सके. फॉर्म भरने की दिक्कतों को लेकर सरकार को इतनी शिकायतें मिली थी कि बार-बार सरकार को जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की तारीख बढ़ानी पड़ी थी.


जीएसटी काउंसिल की बैठक ऐसे समय पर होने जा रही है जब सरकार लगातार जीएसटी में कम राजस्व आने की चुनौती से जूझ रही है. नवंबर महीने में जीएसटी से सिर्फ 80,808 करोड़ रुपए ही आए जबकि जुलाई में जब जीएसटी लागू हुआ था उस वक्त जीएसटी से 94 हजार करोड़ रुपए आए थे. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि सरकार लगातार कई चीजों पर जीएसटी की दर कम कर चुकी है.



जीएसटी लागू होने के बाद आम बजट में टैक्स में बदलाव होने की वजह से चीजों के सस्ता और महंगा होने का सिस्टम खत्म हो चुका है क्योंकि अब जीएसटी काउंसिल ही तय करती है कि किस चीज पर कितना टैक्स लगेगा. आम बजट में अब सिर्फ सरकार के आमदनी और खर्च का लेखा-जोखा और साथ ही डायरेक्ट टैक्स ही बचा है, जिस पर लोगों की निगाहें होंगी.



2019 के लोकसभा चुनाव से पहले यह वित्त मंत्री अरुण जेटली का आखिरी पूरा बजट होगा. इसीलिए यह माना जा रहा है कि बजट से पहले होने वाले जीएसटी काउंसिल की इस बैठक से वित्त मंत्री आम लोगों को राहत देने वाले कई फैसले कर सकते हैं. आज होने वाली बैठक में इलेक्ट्रिक बस और इलेक्ट्रिक कारों पर भी जीएसटी कम हो सकता है. इस बैठक में इस बात का भी जायजा लिया जाएगा कि 1 फरवरी से ई-वे बिल लागू करने के बारे में कितनी तैयारी हुई है.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

आज हो सकता है त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड के विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान - Election commision press conference tripura nagaland meghalaya election announcement



नई दिल्ली: चुनाव आयोग आज पूर्वोत्तर के तीन राज्यों- त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर सकता है. आयोग ने हाल ही में इस मुद्दे पर बैठक की थी. दोपहर 12 बजे चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस है. बता दें, चुनाव से पहले आयोग ने सभी औपचारिक कवायद पूरी कर ली है. इसमें अधिकारियों के साथ बैठक से लेकर राजनीतिक प्रतिनिधि‍यों से सलाह मशवरा भी किया जा चुका है.

गौरतलब है कि इन तीनों राज्यों में 60-60 विधानसभा सीटें हैं. वहीं, इन तीनों राज्यों का विधानसभा कार्यकाल मार्च में खत्म हो रहा है. ऐसे में फरवरी में चुनाव होने की संभावना है. नॉर्थ ईस्ट बीजेपी के लिए अहम तो राहुल के लिए चुनौती आजादी के एक दशक तक पूर्वोत्तर राज्यों में कांग्रेस का खासा दबदबा रहा. इसके बाद इन राज्यों में वाम और स्टेट पार्टी ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली.



नागालैंड में नागा पीपुल्स फ्रंट की सरकार है. इस सरकार को बीजेपी का सपोर्ट है. मेघालय में कांग्रेस की सरकार है और त्रिपुरा में माकपा की अगुवाई वाला वाममोर्चा राज्य में 1993 से सत्ता में है.



बता दें, 2013 में त्रिपुरा में 14 फरवरी को जबकि मेघालय व नागालैंड में 23 फरवरी को वोट डाले गए थे. वहीं, परिणाम 28 फरवरी को घोषित किए गए थे.



बीजेपी, कांग्रेस समेत तमाम दलों ने पूर्वोत्तर के इन तीन राज्यों में चुनाव तैयारियों की रणनीति पर विचार शुरू कर दिया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह त्रिपुरा के दौरे पर भी गए थे. इसी महीने के आखिर में बीजेपी त्रिपुरा में पीएम मोदी की दो रैलियां कराने की योजना पर भी काम कर रही है.



हाल ही में कांग्रेस के अध्यक्ष बने राहुल गांधी के लिए ये चुनाव चुनौती के तौर पर है. क्योंकि मेघालय में बीजेपी अपनी पकड़ मजबूत करने में लगी है. साथ ही त्रिपुरा में इंडिजिनियस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) बीजेपी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ सकती है. दरअसल, बीजेपी इन राज्यों को 2019 के लोकसभा चुनाव के फाइनल एग्जाम का प्री टेस्ट मान कर काम रही है. इस हिसाब से इन राज्यों को जीतने के लिए बीजेपी ने पूरी ताकत झोंक दी है.



news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

रेप की घटनाओं को समाज का हिस्सा बताया हरियाणा ADGP ने - haryana adgp said rape has always been a part of society



चंडीगढ़: लगता है हरियाणा सरकार को बेटियों की सुरक्षा से ज्यादा फिल्म पद्मावत की चिंता है. सूबे में एक के बाद एक रेप की वारदात रुकने का नाम नहीं ले रही. कल सरकार जब पद्मावत को बैन करने का एलान कर रही थी, तभी फतेहाबाद से रेप की छठी वारदात सामने आ गई.

इसी बीच हरियाणा में रेप की घटनाओं पर ADGP ने अपना शर्मनाक बयान देकर रही सही कसर पूरी कर दी है. उन्होंने कहा कि रेप समाज का हिस्सा है. ऐसी घटनाएं आज से नहीं, लंबे समय से होती आ रही हैं. इस पर बवाल मचने के बाद उन्होंने सफाई देनी पड़ी है.



इधर, एक के बाद एक रेप की वारदात में अब फतेहाबाद का नाम भी जुड़ गया है. 20 साल की एक युवती ने आरोप लगाया है कि उसके घर में घुसकर गांव के ही दो युवकों ने उसके साथ रेप किया. वारदात के वक्त पीड़िता का पूरा परिवार नाना की रस्म पगड़ी में गया हुआ था.

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें बना दी गई हैं, लेकिन आरोपी भी अभी कानून की पहुंच से बाहर हैं. इतना ही इससे पहले हरियाणा के हिसार की रोंगटे खड़े वाली वारदात सामने आई, जो सूबे में रहने वाले हर माता-पिता के लिए बेहद चिंता में डालने वाली है.

आरोप है कि साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची को घर में अकेली पाकर पड़ोस के 15 साल के किशोर ने उसके साथ रेप किया. बच्ची के माता-पिता मजदूर हैं और वारदात के वक्त वो काम पर गए थे. घर आकर जब उन्होंने बच्ची को लहूलुहान देखा तो अस्पताल में भर्ती कराया.

इस बीच स्थानीय लोगो ने आरोपी को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया है. जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश कर आरोपी को सुधारगृह में भेज दिया गया है. हरियाणा में अचानक महिलाओं के खिलाफ बर्बर अपराध की बाढ़ से दिल्ली तक हड़कंप है.

इसे लेकर दिल्ली में कुछ संगठनों ने हरियाणा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. सवाल उठता है कि क्या खट्टर सरकार की कानून व्यवस्था पर पकड़ नहीं रही कि अपराधी बेखौफ हो गए हैं? यही वजह है कि रेप की घटनाओं से सरकार के हाथ-पांव फूल गए हैं.





news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

नॉर्थ डोकलाम इलाके में बढ़ी चीनी सैनिकों की हलचल - india china north doklam border helipad indian army



नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच रिश्ते अभी सुधरे नही हैं. कुछ समय बॉर्डर पर शांत रहने के बाद चीन ने एक बार फिर वहां पर हरकत करनी शुरू कर दी है. नॉर्थ डोकलाम इलाके में चीनी सैनिकों की हलचल पिछले कुछ दिनों में बढ़ी है, जिसपर भारतीय जवान अपनी कड़ी निगाहें बनाए हुए हैं. अभी हाल ही में आर्मी चीफ बिपिन रावत ने चीन को लेकर भी बड़ा बयान दिया था, उनका कहना था कि अगर चीन ताकतवर है तो हम भी कम नहीं हैं.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट की मानें, तो भारतीय सुरक्षाबलों को डर है कि चीन एक बार फिर डोकलाम में अपनी घुसपैठ तेज कर सकता है. इसका एक बड़ा कारण उस इलाके में सर्दी कम होना है, धीरे-धीरे जैसे ही ठंड में कमी आएगी चीनी सैनिकों की हलचल बढ़ सकती है. रिपोर्ट की मानें, तो इसके लिए नॉर्थ डोकलाम में कुछ इंफ्रास्ट्रक्चर भी बनाया गया है. इसलिए भारतीय सेना अभी वेट एंड वॉच की नीति अपना रही है.

खबर के मुताबिक, उस इलाके में करीब 1600 चीनी सैनिक नॉर्थ डोकलाम के इलाके में मौजूद हैं. सैटेलाइट इमेज के जरिए वहां पर हेलीपैड, शेल्टर, हथियार, चीनी टैंक की मौजूदगी पाई गई है. ऐसे में यह बॉर्डर पर एक बार फिर तनातनी बढ़ा सकता है.



आपको बता दें कि हाल ही में जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि भारत को पाकिस्तान के साथ लगती सीमा के साथ-साथ पूर्वी सीमा पर भी ध्यान देने की जरूरत है. जनरल ने कहा था कि चीन अगर मजबूत है तो भारत भी अब कमजोर नहीं है. भारत अपनी सीमा पर किसी भी देश को अतिक्रमण नहीं करने देगा. अब हालात 1962 जैसे नहीं है. हर क्षेत्र में भारतीय सेना की ताकत बढ़ी है. रावत ने यह भी कहा था कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास बीजिंग की ओर से दबाव बनाया जा रहा है.



आपको बता दें कि बिपिन रावत के इस तरह के बयान से चीन भड़क गया था. चीन का कहना था कि जनरल का बयान दोनों देशों के बीच तनाव को और बढ़ाएगा. चीन ने आरोप लगाया कि ऐसे बयानों से सीमा पर हालात और तनावपूर्ण होंगे. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि ऐसी कोशिशों के बीच भारत के वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से ऐसी टिप्पणी रचनात्मक नहीं है. यह बातचीत की प्रक्रिया को पटरी से उतार सकती है.



बता दें कि पिछले साल भी डोकलाम को लेकर दोनों देशों के रिश्ते काफी बिगड़ गए थे. डोकलाम इलाके में भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच 72 दिनों तक गतिरोध चला था. इस दौरान दोनों देशों के बीच माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया था. यह विवाद सड़क बनाने को लेकर ही शुरू हुआ था. भारतीय सेना ने चीन के सैनिकों को इस इलाके में सड़क बनाने से रोक दिया था. इसके बाद दोनों देशों के बीच करीब 72 दिन तक गतिरोध चलता रहा. हालांकि इसको दोनों देशों ने सुलझा लिया था और चीन सेना अपने क्षेत्र में वापस लौट गई थी.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

Wednesday, 17 January 2018

इसरो जारी किया कार्टोसैट 2 सीरिज के अपने उस उपग्रह द्वारा ली गई पहली तस्वीर - isro releases first image captured by cartosat 2 series



चेन्नई: इसरो ने कार्टोसैट-2 सीरिज के अपने उस उपग्रह द्वारा ली गई पहली तस्वीर जारी की जिसे हाल में यहां से 110 किलोमीटर दूर अंतरिक्ष एजेंसी के श्रीहरिकोटा स्पेसपोर्ट से प्रक्षेपित किया गया था. तस्वीर इंदौर का एक हिस्सा दिखाती है जिसके बीच में होलकर क्रिकेट स्टेडियम है.



इस तस्वीर को बेंगलुरू मुख्यालय वाले इसरो की वेबसाइट पर जारी किया गया. उपग्रह को अंतरिक्ष यान पीएसएलवी-सी40 राकेट से गत 12 जनवरी को प्रक्षेपित करने के बाद सफलतापूर्वक उसकी कक्षा में स्थापित किया गया था.



आपको बता दें कि 12 जनवरी को इसरो ने अपने अंतरिक्ष केंद्र से दूर संवेदी काटरेसैट और 30 अन्य उपग्रहों को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया. इसरो के निवर्तमान चेयरमैन ए.एस. किरण कुमार ने चेन्नई से लगभग 80 किलोमीटर दूर पूर्वोत्तर में मिशन नियंत्रण केंद्र में बताया, "ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी-सी40) ने भारत के 710 किलोग्राम वजनी काटरेसैट और 10 किलोग्राम नैनो उपग्रह और 100 किलोग्राम वजनी माइक्रो उपग्रह सहित 28 विदेशी उपग्रहों को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया."



श्रीहरिकोटा हाई आल्टीट्यूड रेंज (एसडीएससी-एसएचएआर) के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपण के लगभग 17 मिनट और 33 सेकंड के बाद 320 टन वजनी रॉकेट ने काटरेसैट-2 को सूर्य की तुल्यकालिक कक्षा में स्थापित किया. काटरेसैट-2 ने सूर्य की 505 किलोमीटर कक्षा में प्रवेश किया और यह पांच वर्षो की अवधि तक यहां रहेगा.

100 किलोग्राम वजनी माइक्रो उपग्रह ने पृथ्वी से 359 किलोमीटर की ऊंचाई पर सूर्य की तुल्यकालीक कक्षा में प्रवेश किया. यह 2018 का पहला अंतरिक्ष मिशन है. इससे पहले 31 अगस्त, 2017 को पीएसएलवी-सी39 मिशन असफल हो गया था.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

पहली बार गुजरात जा रहे हैं इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू - israel pm benjamin netanyahu to visit gujarat



अहमदाबाद: इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू आज गुजरात जा रह हैं. छह दिवसीय यात्रा पर भारत आए नेतन्याहू पहली बार गुजरात जा रहे हैं. यही वजह है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद नेतन्याहू और उनकी पत्नी का स्वागत करने के लिए वहां मौजूद रहेंगे. ये तीसरा मौका होगा जब पीएम मोदी किसी मेहमान राष्ट्राध्यक्ष को अपने गृह राज्य ले जाकर उनका खैरमकदम करेंगे.

पीएम मोदी जब जुलाई 2017 में इजरायल गए तो वहां उनका ग्रैंड स्वागत किया गया. तेल अवीव में एयरपोर्ट पर ही इजरायल की धरती पर पहली बार गए किसी भारतीय प्रधानमंत्री का शाही स्वागत किया गया था. उसी तर्ज पर अहमदाबाद में बेंजामिन नेतन्याहू का वेलकम करने की तैयारी की गई  है.

मेहमान राष्ट्राध्यक्षों को व्यक्तिगत तौर पर अपने गृह राज्य ले जाना और उनका स्वागत सत्कार करना जहां पीएम मोदी की गुजरात को लेकर व्यापार की नीति का हिस्सा माना जाता है. वहीं विदेशी नेताओं से व्यक्तिगत संबंधों को मजबूती देने की एक कोशिश के रूप में ये नजर आता है.

आज जब नेतन्याहू अपनी पत्नी सारा के साथ अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचेंगे तो वहां से वो एक रोड शो का हिस्सा बनेंगे. यह कोई चुनावी रोड शो तो नहीं है, लेकिन पीएम मोदी नेतन्याहू के साथ गुजरात की सड़कों पर जनता का अभिवादन स्वीकारते हुए अपनी दोस्ती का नमूना जरूर पेश करेंगे. दोनों नेता हवाई अड्डे से साबरमती आश्रम तक तकरीबन आठ किलोमीटर लंबा रोड शो करने वाले हैं. जिसे खास बनाने के लिए सड़क किनारे तकरीबन 50 मंच तैयार किए गए हैं, जहां देश के अलग-अलग राज्यों से आए लोग स्वागत करेंगे. साथ ही भारत में रहने वाले यहूदी लोग भी नेतन्याहू को शलोम करेंगे.



इससे पहले पीएम मोदी ने जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को गुजरात की सैर कराई है. पिछले साल सितंबर में शिंजो आबे के साथ भी पीएम मोदी ने रोड शो किया था. मोदी ने आबे और उनकी पत्नी को साबरमती आश्रम के आस-पास के इलाके दिखाए थे. साथ ही दोनों नेताओं ने साबरमती रिवरफ्रंट पर भी वक्त बिताया था.

वहीं, 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग जब भारत यात्रा पर आए तो मोदी ने गुजरात दर्शन कराए. चीनी राष्ट्रपति और उनकी पत्नी को साबरमती रिवरफ्रंट घुमाने की तस्वीर दुनियाभर में चर्चा का विषय रही.

अब इजरायल के पीएम और उनकी पत्नी को पीएम मोदी साबरमती रिवरफ्रंट की सैर कराएंगे. चीन, जापान और इजरायल दुनिया के वो मुल्क हैं, जो आर्थिक तौर पर न सिर्फ सक्षम है, बल्कि दुनिया के दूसरे मुल्कों को अपनी तकनीक, हथियार भी बेचते हैं. दुनिया की ये विकसित अर्थव्यवस्थाएं भारत जैसे विकासशील देशों में कारोबार बढ़ावा देने में भी अहम रोल अदा करती हैं. ऐसे में पीएम मोदी इन ताकतवर देशों के साथ व्यक्तिगत संबंधों पर भी काफी जोर देते दिखाई देते हैं.





news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

Videos

News by Topic...

States (2193) Politics (2013) India (1238) international (1000) sports (865) entertainment (702) Controversy (569) economy (148) articles (120) religion (99) Social (50) career (43) mithilesh2020 (36) hindi news (29) top5 (23) narendra modi (10) images (8) others (8) Stories (2)

Follow by Email

News Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *

Translate

WEBSITE BY...


क्या आप भी न्यूज, व्यूज या अन्य पोर्टल बनवाने के इच्छुक हैं? फोन करें

 मिथिलेश को: 99900 89080