Latest News

Tuesday, 28 November 2017

ब्याज दर में कटौती के लिए आरबीआई पर दबाव बना रही है केंद्र सरकार - modi government desperate for rbi repo rate cut upon rising crude and inflation



नई दिल्ली: केंद्र सरकार मार्च 2018 से पहले ब्याज दर में कटौती की कवायद कर रही है. देश की अर्थव्यवस्था में तेजी का अब यही एक रास्ता केंद्र सरकार को नजर आ रहा है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक सरकार आरबीआई पर इसके लिए दबाव बना रही है ताकि अगली मौद्रिक नीति में ब्याज दरों में कटौती का रास्ता साफ हो जाए.

वित्त मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार का आकलन है कि महंगाई दर निर्धारित 4 फीसदी के आंकड़े के आसपास रहेगी लिहाजा केन्द्रीय बैंक को प्रभावी ब्याज दरों में कटौती करनी चाहिए. अक्टूबर में मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी ने रेपो रेट को 6 फीसदी पर कायम रखा था. रेपो रेट का यह स्तर सात साल का न्यूनतम है. इसे देखते हुए अर्थशास्त्रियों को उम्मीद थी कि अगले वर्ष की दूसरी तिमाही तक केन्द्रीय बैंक ब्याज दरों में बदलाव को नकारता रहेगा.

वहीं सूत्रों का दावा है कि केन्द्र सरकार ब्याज दरों में कटौती के लिए इतना लंबा इंतजार नहीं चाहती. लिहाजा उसकी नजर दिसंबर 2017 और फरवरी 2018 में होने वाली मौद्रिक समीक्षा पर है जहां उसे उम्मीद है कि रिजर्व बैंक ब्याज दरों में कटौती का ऐलान करेगा.



वित्त मंत्रालय इसलिए भी जल्दी में है क्योंकि उसे आशंका है कि इंटरनेशनल मार्केट में लगातार हो रहे क्रूड ऑयल की कीमतों में इजाफे से देश में महंगाई बढ़ सकती है और ऐसी स्थिति में रिजर्व बैंक के लिए ब्याज दरों में कटौती करना मुश्किल हो जाएगा.

गौरतलब है कि अपने 5 साल के कार्यकाल में 3.5 साल तक केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था को तेज रफ्तार देने में विफल रही है और आर्थिक गतिविधि बढ़ाने के लिए ब्याज दरों में बड़ी कटौती का जल्द ऐलान नहीं किया गया तो वह देश में लाखों नौकरियां पैदा करने के अपने वादे को पूरा करने में नाकामयाब हो जाएगी.



वहीं देश में ग्रोथ को रफ्तार देने के लिए केन्द्र सरकार अपने खजाने से किसी बड़े निवेश का सहारा नहीं ले सकती क्योंकि इससे 14 साल बाद हुए मूडीज रेटिंग में इजाफे पर बुरा असर पड़ने का खतरा है. लिहाजा, केन्द्र सरकार के पास महज एक विकल्प बचा है कि केन्द्रीय बैंक ब्याज दरों में जल्द से जल्द बड़ी कटौती का ऐलान करते हुए निजी क्षेत्र से निवेश का रास्ता साफ करे जिससे देश की अर्थव्यवस्था को तेज किया जा सके.




news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

No comments:

Post a Comment

News by Topic...

States (2335) Politics (2131) India (1318) international (1053) sports (920) entertainment (741) Controversy (585) economy (148) articles (120) religion (106) Social (50) career (43) mithilesh2020 (36) hindi news (29) top5 (23) narendra modi (10) images (8) others (8) Stories (2)

Follow by Email

News Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *

Translate

WEBSITE BY...


क्या आप भी न्यूज, व्यूज या अन्य पोर्टल बनवाने के इच्छुक हैं? फोन करें

 मिथिलेश को: 99900 89080