Latest News

Friday, 29 December 2017

विजय रूपाणी और नितिन पटेल के बीच अनबन - gujarat vijay rupani bjp government crisis



दिल्ली: गुजरात में सरकार बनने के महज 3 दिन बाद ही मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के बीच अनबन की खबर आ रही है. साथ ही वहां के विधायक भी अपनी नाराजगी जताने लगे हैं.

लगातार छठी बार गुजरात में सरकार बनाने वाली भारतीय जनता पार्टी की इस सरकार में शीर्ष दो नेताओं के बीच अनबन का सबसे अहम कारण विभागों के बंटवारे को लेकर माना जा रहा है.

रूपाणी की अगुवाई में सरकार के शपथ लेने के बाद से तनातनी की खबरें आ रही थीं. मुख्यमंत्री रूपाणी, उपमुख्यमंत्री पटेल और भाजपा अध्यक्ष जीतू वघानी विवाद को निपटाने के लिहाज से मुख्यमंत्री आवास में मिले. इस कारण पहली केबिनेट बैठक में लिए नएनवेले मंत्रियों को करीब 4 घंटे तक इंतजार करना पड़ा.

उपमुख्यमंत्री पटेल विभागों के वितरण से खुश नहीं हैं . वह गृह और शहरी विकास मंत्रालय चाहते थे जो उन्हें नहीं मिला. साथ ही उनको 2 अहम विभाग राजस्व और वित्त विभाग भी नहीं दिए गए. विभागों के वितरण के मामले में माना जा रहा है कि सबसे ज्यादा घाटा पटेल को ही हुआ है. पटेल को सड़क एवं भवन, हेल्थ एवं फैमिली, नर्मदा, कल्पसार, चिकित्सा और शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी मिली है.

सरकार के दो शीर्ष नेताओं के बीच जारी तनातनी को लेकर रात 10 बजे प्रेस कान्फ्रेन्स किया गया जिसमें उपमुख्यमंत्री ने एक शब्द भी नहीं बोला, और वो जिस तरह से वहां बैठे थे उससे लग रहा था कि वो काफी नाराज चल रहे हैं.


सूत्र बताते हैं कि सरकार में अनबन की एक और खबर है. वडोदरा से विधायक और पूर्व मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी ने भी विरोध का झंडा बुलंद कर रखा है. उन्होंने मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के सामने वडोदरा से एक भी विधायक को केबिनेट में शामिल नहीं करने जाने पर नाराजगी जताई. उन्होंने 10 विधायकों के साथ पार्टी छोड़ने की धमकी दे डाली.

ऐसा पहली बार हो रहा है कि भाजपा राज में विधायक खुलकर बगावत का झंडा बुलंद कर रहे हैं. नरेंद्र मोदी के गुजरात छोड़ने के बाद से वहां स्थिति लगातार खराब हो रही है और अब तो उनके अपने विधायक बगावती तेवर दिखाने लगे हैं.

यह दिखाता है कि मोदी फिलहाल रूपाणी और पटेल के बीच जारी विवाद को थामने के लिए अपने स्तर पर कोई प्रयास नहीं कर रहे हैं.

हाल ही में हुए गुजरात चुनाव में भाजपा का यह अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन रहा है. पिछले 6 चुनावों में पहली बार उसे 100 से कम सीटें हासिल हुई हैं. अगर ऐसे ही विवाद बने रहे तो मोदी के लिए 2019 के आम चुनाव में यहां से राह आसान नहीं होगी.




news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

No comments:

Post a Comment

News by Topic...

States (2335) Politics (2131) India (1318) international (1053) sports (920) entertainment (741) Controversy (585) economy (148) articles (120) religion (106) Social (50) career (43) mithilesh2020 (36) hindi news (29) top5 (23) narendra modi (10) images (8) others (8) Stories (2)

Follow by Email

News Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *

Translate

WEBSITE BY...


क्या आप भी न्यूज, व्यूज या अन्य पोर्टल बनवाने के इच्छुक हैं? फोन करें

 मिथिलेश को: 99900 89080