Latest News

Tuesday, 3 April 2018

सोमवार को भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में 10 लोग मरे - Bharat band protests death toll due to violence rises to 10



नई दिल्ली: SC/ST एक्ट में बदलाव के विरोध में सोमवार को भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या 10 हो गई है. सबसे ज़्यादा 7 लोगों की मौत मध्य प्रदेश में हुई. उत्तर प्रदेश में दो और राजस्थान में एक व्यक्ति की मौत हुई है. वहीं केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में 20 मार्च के उसके फैसले के खिलाफ एक समीक्षा याचिका दायर की है. सुप्रीम कोर्ट का ताजा आदेश अनुसूचित जातियों के खिलाफ अत्याचार के मामलों में तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगाता है.


सोमवार को हुई हिंसा को देखते हुए मध्य प्रदेश में मंगलवार को SSB की 16, RAF की 4, STF की दो कंपनियां तैनात की गई हैं. इसके अलावा 3000 ट्रेनी कॉन्सटेबल को भी तैनात किया गया है. कई इलाकों में इंटरनेट सेवाएं भी बंद की गई हैं. कई राज्यों ने बंद के मद्देनजर स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने का आदेश दिया है. भारत बंद के दौरान हुई हिंसा को देखते हुए यूपी के मुजफ्फरनगर और गाज़ियाबाद में आज सभी स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए हैं. डीएम का ये आदेश बोर्ड की परीक्षा देनेवालों छात्रों पर नहीं लागू होगा. मेरठ में दो बजे तक इंटरनेट सेवा पर रोक लगा रखी है. 

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल एससी-एसटी एक्ट पर फ़ैसले के खिलाफ दायर पुनर्विचार याचिका पर जल्द सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट से अपील करेंगे. दलित संगठनों के बंद ने बिहार के हाज़ीपुर में एक नवजात की जान ले ली. बच्चे को एंबुलेंस से ले जाया जा रहा था, लेकिन हंगामा कर रहे लोगों ने एंबुलेस को जगह-जगह रोका, उस पर लाठियां भांजीं. एंबुलेंस को अस्पताल पहुंचने में ढाई घंटे लग गए. डॉक्टर ने जब बच्चे को देखा तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

यूपी के बिजनौर में भारत बंद के दौरान लगे जाम में फंसकर एक बीमार शख़्स की मौत हो गई. जाम में फंसी एंबुलेंस के ड्राइवर ने मरीज़ को बीच चौराहे पर उतारा और चला गया. मरीज़ का बेटा किसी तरह उसे कंधे पर लादकर उसे डॉक्टर के पास ले गया, लेकिन रास्ते में ही मरीज़ ने दम तोड़ दिया. मेरठ में बंद के दौरान हुई हिंसा के लिए पुलिस ने बीएसपी के नेता योगेश वर्मा और कई कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार किया है. एसएसपी मंज़िल सैनी ने पूर्व बीएसपी विधायक वर्मा को हिंसा का मुख्य साज़िशकर्ता बताया है.

बंद के दौरान यूपी में काफ़ी बवाल हुआ. मेरठ और फ़िरोज़ाबाद में एक-एक शख़्स की मौत हो गई. जगह-जगह तोड़फोड़, आगजनी और पथराव हुआ. पुलिस ने पूरे राज्य से 500 लोगों को हिरासत में लिया है. राजस्थान के अलवर में भी सोमवार जमकर हिंसा हुई, वहां फ़ायरिंग में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 2 लोग घायल हैं. नीम का थाना में पुलिस पर पथराव हुआ, जबकि हिंडौन सिटी में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ की.

मध्य प्रदेश में सबसे ज़्यादा हिंसा चंबल में हुई. यहां ग्वालियर और भिंड में दो-दो और मुरैना में एक व्यक्ति की मौत हो गई. इसके अलावा कई और ज़िलों से भी हिंसा की ख़बर आई. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शांति बनाए रखने की अपील भी कि लेकिन इसका ज़्यादा असर नहीं दिखा. इस मामले में केंद्र सरकार ने यूपी, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पंजाब और बिहार से हिंसा पर रिपोर्ट मांगी है और जान-माल की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एहतियाती कदम उठाने और कानून- व्यवस्था बनाये रखने का निर्देश दिया है.


news in hindi, hind news, all news hindi, latest news, latest hindi news, latest news updates in hindi, hindi samachar, hindi samachar paper, hindi samachar latest, today news in hindi, hindi news today live, hindi news live, top news today in hindi, hindi news papers, hindi newspapers, newspaper in hindi, hindi news papers online, all hindi news papers, hindi newspapers and news sites, aaj tak hindi news, online hindi news, breaking news in hindi, hindi breaking news, hindi news sites, hindi news website, web hindi news, taja news hindi, daily news hindi, recent news in hindi, recent hindi news,


इसे भी पढ़िएएक बेहतरीन हिंदी न्यूज पोर्टल कैसा हो?

न्यूज, लेख यहाँ ढूंढिए...

No comments:

Post a Comment

News by Topic...

States (2335) Politics (2131) India (1318) international (1053) sports (920) entertainment (741) Controversy (585) economy (148) articles (120) religion (106) Social (50) career (43) mithilesh2020 (36) hindi news (29) top5 (23) narendra modi (10) images (8) others (8) Stories (2)

Follow by Email

News Archive

Contact Form

Name

Email *

Message *

Translate

WEBSITE BY...


क्या आप भी न्यूज, व्यूज या अन्य पोर्टल बनवाने के इच्छुक हैं? फोन करें

 मिथिलेश को: 99900 89080